Book Detail

Mai nahi ek kavi
Mai nahi ek kavi

Ebook : 39 INR     Paperback : 99 INR

4
1 Reviews

ISBN : 978-93-85818-91-2

Availability: In Stock

Check Availability At
Choose Binding Type

Quantity

"मैं नहीं एक कवि" मेरी उन्ही कुछ कविताओं का संकलन है, जो मैंने अपने उसी आत्म मंथन में लिखी है। मैं पेशे से कोई कवि नहीं, और न ही मुझे कोई साहित्य का ज्ञान है। मैंने तो बस अपनी भावनाओं को शब्दों का रूप देने का प्रयास किया है।
ज़िंदगी की आपाधापी और कोलाहल से दूर जब कोई एकांत में चिंतन मनन करता है तो उसे उस काल में, उस समाज में घटित हो रही अच्छी या बुरी बातों का ज्ञान होता है। उस समय आपको अपने आप का भी अहसास होता है और आप कई उन सारी बातों को समझते हैं जो केवल एकांत के आत्म मंथन से ही मिल सकती हैं।

Publisher : Onlinegatha

Edition : 1

ISBN : 978-93-85818-91-2

Number of Pages : 81

Weight : 80 gm

Binding Type : Ebook , Paperback

Paper Type : Cream Paper(58 GSM)

Language : Hindi

Category : Poetry

Uploaded On : July 15,2016

Partners : Ebay , Payhip , Smashwords , Flipkart , shopclues , ezebee.com , Paytm , scribd , Snapdeal

जन्म: ४ अगस्त १९८३ लखनऊ , उत्तर प्रदेश






शिक्षा: बचपन और शुरू की शिक्षा लखनऊ में और इंजीनियरिंग मदन मोहन मालवीय इंजीनियरिंग कॉलेज गोरखपुर से।






कार्यक्षेत्र: इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी एंड बिज़नेस इंटेलिजेंस कंसलटेंट। लेखन में गहरी रुचि, १०० के भी ऊपर कवितायेँ और लघु कथाएं लिख चुकें है। उनमे से कुछ पत्रिकाओं में प्रकाशित भी हुई है।






लेखक के शब्दों में: "मुझमें लिखने का हुनर न सही पर लिखने का जज्बा जरूर है] और जब तक ये जज्बा रहेगा मैं अपनी भावनाओ को शब्दों का रूप देता रहूँगा। मेरे मन में होने वाले आत्म मंथन से जो भी निकलता है उसे समाज के सामने लाने का यही एक रास्ता है।"






Compare Prices
Seller
Binding Type
Price
Details
Paperback
185 INR / 2.76 $
ebook
67.10 INR / 1.00 $
ebook
67.10 INR / 1.00 $
Paperback
140 INR / 2.08 $
Paperback
185 INR / 2.76 $
Paperback
185 INR / 2.76 $
Paperback
180 INR / 2.67 $
ebook
67.15 INR / 1.00 $
Paperback
185 INR / 2.76 $
Customer Reviews
  • Pradeep Kumar Gupta

    Good..

Ebook : 39 INR

Embed Widget