Book Detail

Kavya Kanchhi
Kavya Kanchhi

Ebook : 49 INR     Paperback : 150 INR

2.5
1 Reviews

ISBN : 978-93-86163-09-7

Availability: In Stock

Check Availability At
Choose Binding Type

Quantity

तलाश स्वतांत्रता तो उतनी ही है हमारी जजतनी लम्बी बेड़ड़यों की डोर हर इक ने इच्छा, अपेक्षा, ांस्कारो और म्मानो की ीमाए डाल रखी है, तलाि है उस थोड़े से आसमान की ककसी ने कहीं देखा है िो इक आकाि का टुकड़ा जहाूँ हम दह हम हो उन्मुक्ता, अधिकार शमली सिी चराचर को किर. ,,,

Publisher : Onlinegatha

Edition : 1

ISBN : 978-93-86163-09-7

Number of Pages : 53

Weight : 200 gm

Binding Type : Ebook , Paperback

Paper Type : Cream Paper(58 GSM)

Language : Hindi

Category : Poetry

Uploaded On : May 13,2016

Partners : Payhip , Smashwords , Amazon , Rockstand.in , Kraftly

मैं, पम्मी इसी नाम से अपनी रचनाओां को कलमबध्द करती ह ूँ। कई बार नाम बदलने की कोशिि.. पर हो न सका। म लतः बबहार (पटना) से ह ूँ, जन्म 7 अप्रेल 1970। वपताजी का उनके कार्यकाल के दौरान विशिन्न शहरों में तबादला होने के कारण मेरी प्रारांसभक शिक्षा राूँची से होते हुए ददल्ली में समाप्त हुई। चंद ववचारो को अशिव्र्क्त करने का माध्र्म मैने िब्द व्र्ंजना को चुना। संज्ञात भावनाओां को डार्री में संगृतत करने की आदत शलखने की वज़ह, बनी। अंतस की ररसती ज़ज्बातों को अशिव्र्क्त कर परिाज देने की कोशिि... जो काव्यकाांक्षी 5 पम्मी स हां किी कविता, गजल.. में तब्ब्दल हो जाती है। दहंदी में उद य का समागम िादगी और िाइस्तगी दे जाती है। गीत सगींत, तथा पेंशसल स्केच में रूची रखती ह ूँ। मेरी रचनाओं में मभ रतु, ज़ल्मत और अंत में मभन्तज़र की छाप हैं।
Compare Prices
Seller
Binding Type
Price
Details
Paperback
100 INR / 1.48 $
ebook
100 INR / 1.48 $
Paperback
150 INR / 2.23 $
ebook
49 INR / 0.73 $
Paperback
150 INR / $
Customer Reviews
  • Ravindra Singh Yadav

    पुस्तक प्रकाशन की बधाई पम्मी जी। आपके जीवन परिचय में टंकण सम्बन्धी त्रुटियाँ हैं जिन्हें हो सके तो दुरुस्त करवाइये।

Ebook : 49 INR

Embed Widget