Book Detail

गुल्लू का गाँव
गुल्लू का गाँव

Ebook : 49 INR

2.5
3 Reviews

ISBN : 978-93-85818-37-0

Availability: In Stock

Choose Binding Type

Quantity

आम तौर पर 'नर्सरी राइम' की तर्ज़ पर लिखी तुकबन्दियों को ही बालगीत की संज्ञा देने का चलन है, किन्तु जब एक कुशल बच्चों का चिकित्सक एवं समर्थ गीतकवि बच्चों के लिए कविताई करता है, तो उसमें जीवन के विविध पक्षों के अनुभवों का भी स्वतः ही समावेश हो जाता है| डॉ.प्रदीप शुक्ल के प्रस्तुत बालगीत संग्रह की रचनाओं के बीच से गुज़रते हुए मुझे ऐसी ही अनुभूति होती रही| बच्चों की समझ और उनके सोच को कवि ने पूरी शिद्द्त से एक ओर अभिव्यक्ति दी है तो दूसरी ओर उनसे फ़िलवक़्त के कई सार्थक प्रश्नों पर बातचीत भी की है| इन गीतों के बीच से गुज़रना मेरे लिए एक अनोखे अहसास से रू-ब-रू होने जैसा रहा| इनमें बालमन की आख्या के साथ-साथ आज के कई सामाजिक सरोकारों के भी इंगित मुझे झलकते दिखे हैं| मेरी राय में ये संस्कार-गीत हैं| इनके माध्यम से आज की पीढ़ी के कम्प्यूटर युग के बच्चों को जीवन के जीवंत अनुभवों से जोड़ने का प्रयास किया गया है| मेरी राय में, इस दृष्टि से यह संग्रह एकदम अनूठा है|

Publisher : Onlinegatha

Edition : 1

ISBN : 978-93-85818-37-0

Number of Pages : 134

Weight : 150 gm

Binding Type : Ebook

Paper Type : Cream Paper(70 GSM)

Language : Hindi

Category : Poetry

Uploaded On : January 19,2016

Partners : Smashwords , scribd , Payhip , ezebee.com , Lulu.com

प्रदीप जी मूलतः ग्राम्य मन के कवि हैं। इन गीतों में भी उनका ग्राम्य मन पूरी शिद्द्त से उपस्थित दिखाई देता है। संग्रह का एवं उसके प्रवेश गीत का शीर्षक 'गुल्लू का गाँव' इस दृष्टि से पूरी तरह सार्थक है। डॉ. शुक्ल एक समर्थ नवगीतकार हैं और उनके इन बालगीतों की कहन भी काफी कुछ नवगीतात्मक बन पड़ी है| यह भी इस संकलन की विशेषता है| इस युवा कवि को मेरा हार्दिक साधुवाद है ऐसे अनोखे बालगीत रचने हेतु| यह संग्रह उनका प्रवेश संकलन भी है और ऐसे अछूते ढंग से नवगीत के रचना-संसार में उनके प्रवेश पर मैं उन्हें बधाई एवं शुभकामनाएँ देता हूँ| आशा है शीघ्र ही पाठक उनके नवगीतों से भी परिचित हो पायेंगे, जिनकी पूर्व-पीठिका इन गीतों में स्पष्ट है|
Compare Prices
Seller
Binding Type
Price
Details
Ebook
109 INR / 1.59 $
Ebook
99 INR / 1.19 $
Ebook
132 INR / 2.00 $
Ebook
59 INR / 0.89 $
Ebook
199 INR / 2.99 $
Customer Reviews
  • Madhulika Shukla

    5

  • Madhulika Shukla

    4

  • Madhulika Shukla

    10

Ebook : 49 INR

Embed Widget