Book Detail

इंसान से आगे-- कहीं ---- ---- !
इंसान से आगे-- कहीं ---- ---- !

Ebook : 100 INR

3.8
3 Reviews

ISBN : 978-81-931221-3-6

Availability: In Stock

Choose Binding Type

Quantity

एक कहानी कई परिस्थितियों ,कई विचारो का संकलन होती है | विचार कुछ भी हो सकते हैं , किसी भी प्रकार के हो सकते हैं और किसी भी भावना , या परिस्थितियों से प्रेरित हो सकते हैं | " इंसान से आगे-- कहीं ---- ---- ! " के अंतर्गत उन विचारो को स्थान दिया गया है , जिनकी अनूभूति अनुभव के द्वारा होती है |

Publisher : Onlinegatha

Edition : 1

ISBN : 978-81-931221-3-6

Number of Pages : 133

Binding Type : Ebook

Paper Type : creme

Language : Hindi

Category : Fiction

Uploaded On : June 16,2015

Partners : Amazon

आशीष अनन्द आर्य का जन्म 7 अगस्त I983 को कानपुर मे द्दुआ ! इनकी माता का नाम श्रीमती प्रतिभा आर्य और पिता का नाम श्री रविकान्त आर्य ! इन्होने हिन्दी माध्यम से स्नातएव परास्नातक तथा बी.एस.सी. को उपाधि प्राप्त की !बचपन के बतरस बोलों ने कलम साधना कमउम्र में ही सिखा दिया। परंतु हृदय के उन्मादों ने अपना अलग ही प्रभाव दिखाया। देश के मानव को सोचती सोच खुद को खुद-ब-खुद ही समाज से दूर ले गयी। भारतीय सेना में कार्यरत सशस्त्र-सैनिक की भूमिका अदा करते-करते, सशक्त समाज के बीच कदम भरने का मौका कम ही मिला। परंतु जो भी अवसर मिला, उसे नजरों ने पल भर को भी नहीं छोड़ा। जीवन के व्यावहारिक अनुभवों को कलम पर साधती कहानियों को सहेजा गया संकलन ''कदम पर और...'' के अन्तर्गत! कथा-साहित्य विधा में अपनी शैली की पहचान खोजती कोशिश को रूप दिया मनीष पबिलकेशन्स ने। वर्ष 2010 में इस पुस्तक का लोकार्पण प्रसिद्ध व्यंग्यकार श्री गोपाल चतुर्वेदी के शुभ हाथों से हुआ। कर्म-साधना के इस संकलन हेतु भाऊराव देवरस न्यास द्वारा सन 2013 का कहानी विधा हेतु पं. प्रताप नारायण मिश्र स्मृति युवा साहित्यकार सम्मान लेखक इचिछत को दिया गया।
Compare Prices
Seller
Binding Type
Price
Details
Paperback
200 INR / 2.95 $
Customer Reviews
  • Rajendra Sharma

    really nice book

  • Deepesh Patel

    Perfect Fiction Book

  • shubhra

    very nice book

Ebook : 100 INR

Embed Widget