Book Detail

Dekha Hai
Dekha Hai

Ebook : 50 INR     Paperback : 220 INR

5
5 Reviews

ISBN : 978-81-931221-2-9

Availability: In Stock

Choose Binding Type

Quantity

Check Availability At
सुधीर कुमार बंसल की काव्य कृति देखा है का आद्योपान्त पठन करने के बाद पाया कि कवि ने जीवन के सभी क्षेत्रो- सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक तथा धार्मिक में अपनी सजग दृष्टि से अवलोकन करके शब्द चित्रों को सहज कल्पना के रंगों से चित्रित करने का प्रयास किया हैं।
हम सब जानते हैं कि कविता कवि-हृदय की भावनाओं की कलात्मक संवाहिका होती हैं। कवि भी एक सामाजिक प्राणी हैं। वह समाज का एक विशेष जागरूक व्यक्ति होता है जिसकी चेतन प्रज्ञा से सूक्ष्मातिसूक्ष्म घटना भी अछूती नहीं रहती समाज में जीवन मूल्यों के ह्यसोन्मुख होने पर कवि अपनी लेखनी से दिग्भ्रमित जन मानस को जगाने सचेत करने होश में आने और सही दिशा में आचरण करने के लिए अपनी विशिष्ट शैली में प्रेरित करता है।
आज के वैज्ञानिक आर्थिक तथा प्रगतिशील युग में सामाजिक परिवर्तन की गति तो अनपेक्षित रूप से तीव्र हैं किन्तु उसकी दिशा मानव जीवन मूल्यों के सर्वथा प्रतिकूल है।
सुधीर जी को भावी सफल लेखन हेतु शुभकामनाओं के साथ।
रामसिंह

Publisher : Onlinegatha

Edition : 1

ISBN : 978-81-931221-2-9

Number of Pages : 184

Weight : 230 gm

Binding Type : Ebook , Paperback

Paper Type : Cream Paper(58 GSM)

Language : Hindi

Category : Poetry

Uploaded On : February 18,2015

Partners : Flipkart , Rockstand.in , shopclues , Kobo , Amazon , Paytm

सुधीर बंसल का जन्म दिनांक ०५-१२-१९६४ को द्दुआ ! इनके पिता का नाम स्व. श्री एन. एम. बंसल तथा माता का नामस्व. श्रीमती प्रेमवती बंसल था ! इनकी प्रारम्भिक शिक्षा अलीगढ़, (उत्तर प्रदेश) प्रारम् हुई ! सुधीर बंसल जी ने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा के सांथ -2 एम्. एस. सी. (स्टेटिस्टिक्स), एम्. सी. ए., डी.सी.पी. की शिक्षा प्राप्त की तथा अनेक लेखनी पर लेखन काय़॔ किया । सिविल इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट, जेड.एच.कॉलेज ऑफ़ इंजी. एंड टेक्नोलॉजी,अलीगढ़ मुस्लिम क्तविश्वविद्यालय, अलीगढ़ मे काय॔ किया। तथा सरकारी सेवा (ग्रुप 'ए' अधिकारी) सिस्टम्स प्रोग्रामर के पद पर नियुक्त हुए।
Compare Prices
Seller
Binding Type
Price
Details
Paperback
250 INR / 3.79 $
Ebook
150 INR / 2.27 $
PaperBack
303 INR / 4.59 $
Ebook
201.92 INR / 3.06 $
Paperback
250 INR / 3.69 $
Paperback
220 INR / 3.28 $
Customer Reviews
  • Pari Vikram

    collection of good poems

  • Manisha Sahu

    nice book

  • Ramesh Thakur

    sudhir ji, aap ki kitab dekha hai, muje kaafi pasand aai. yadi aap ki koi aagami book aane vali hai, to kripya muje suchit kare

  • Rita Rai

    really good book,

  • sumit

    finally i got my book aT HOME :)

Ebook : 50 INR

Embed Widget