Book Detail

SAMWAD
SAMWAD

Ebook : 49 INR     Paperback : 160 INR

Not Reviewed

Availability: In Stock

Check Availability At
Choose Binding Type

Quantity

हिंदी कहानी पर जब भी कहीं कोई चर्चा होती है तो
सबसे पहले जो नाम सामने आता है वो है मुंशी प्रेमच ंद।
सौ से अधिक वर्षों के बाद आज भी उनकी कहानियाँ
वैसी की वैसी ही ताज़ी बनी हुयी है ं, जैसी तब रही होंगी।
कारण, न तो हमारा समाज बदला है और न ही इसकी
कुरीतियाँ। अतः जब भी इन कुरीतियों के विरूद्ध कहीं
कोई आवाज ़ मुखरित होती है तो उस आवाज़ को सहारा
देती हैं मुंशी प्रेमच ंद की कहानियाँ।
मुंशी प्रेमच ंद की कहानियाँ अर्थपूर्ण, रोचक, घटना प्रधान
एव ं दर्शक को बांध ल ेने की क्षमता से भरपूर हैं। इन
कहानियों के पात्र हमारे समाज में विचरण करने वाले
हाड़-मांस के पुतल े हैं जो सभी प्रकार के गुणों एव ं दुर्गुणों
से ओत-प्रोत हैं।

Publisher : Onlinegatha

Edition : 1

Number of Pages : 139

Binding Type : Ebook , Paperback

Paper Type : Cream Paper(70 GSM)

Language : Hindi

Category : Fiction

Uploaded On : October 29,2018

Customer Reviews
  • Give Your Review Now

Ebook : 49 INR

Embed Widget