Book Detail

Hero Meri Kahani Mere Anubhav
Hero Meri Kahani Mere Anubhav

Ebook : 49 INR     Paperback : 230 INR

Not Reviewed

ISBN : 978-93-86352-78-1

Availability: In Stock

Check Availability At
Choose Binding Type

Quantity

Publisher : Onlinegatha

Edition : 1

ISBN : 978-93-86352-78-1

Number of Pages : 246

Weight : 100 gm

Binding Type : Ebook , Paperback

Paper Type : Cream Paper(70 GSM)

Language : Hindi

Category : Self-Help

Uploaded On : August 23,2018

कभी सोचा भी न था कि मेरी कोई पुस्तक भी प्रकाशित हो सकती है। छात्र जीवन में थोड़ा बहुत लिखता रहता था। कुछ एक रचनाएं प्रकाशित भी र्हुइं पर रोज़ी-रोटी और पारिवारिक दायित्व को निभाने में सब कुछ छूट गया। कार्य से सेवानिवृत्त होने के उपरान्त चालिस सालों बाद एक बार फिर से लेखनी पकड़ी। हालांकि यह अन्तराल काफी बड़ा था पर अनेकों विचार भी मन में उमड़-घुमड़ कर आ रहे थे। समाज को देखने का दृष्टिकोण भी बदल चुका था। भाषा पहले से अधिक परिष्कृत एवम् परिपक़्व हो चुकी थी। अब जो भी मैंने लिखा अपने लिए ही लिखा। न किसी को दिखाया अथवा पढ़वाया। स्वान्तः सुखाय मान कर फाइलों में एकत्रित करता चला गया।
Customer Reviews
  • Give Your Review Now

Ebook : 49 INR

Embed Widget